सऊदी अरब का राष्ट्रीय दिवस धूमधाम से मनाने की तैयारी

Saudiaसऊदी दूतावास में बधाईयों का लगा तांता

आरएनआई, नई दिल्लीः

हर वर्ष 23 सितम्बर को सऊदी अरब अपने राष्ट्रीय दिवस के रूप में मनाता है जिसके लिए जोर शोर से तैयारियां चल रही हैं। प्राप्त जानकारी के अनुसार इस वर्ष राष्ट्रीय दिन बड़े धूम धाम से मनाने की तैयारी है। न केवल सऊदी अरब में बल्कि विश्व भर में स्थित सऊदी दूतावासों में राष्ट्रीय दिवस को एक बड़े पर्व के रूप में मनाने की तैयारियां लगभग पूरी हो चुकी हैं। सऊदी अरब में तो कई महिनों से तैयारियां चल रही हैं। सऊदी अरब के शहरों, विशेष कर रियाद, दमाम आदि को दुलहन की तरह सजाया जा रहा है। राष्ट्रव्यापी पैमाने पर छोटे बड़े कार्यक्रर्मों का आयोजन किया जाना है। सड़कों, पार्कों और चैराहों को सजाया जा रहा है। हवाबाजी, उंट दौड़ और अन्य खेलों का आयोजन किया जाना है जिसमें देश की जनता जोर शोर से शामिल होगी। प्राप्त जानकारी के अनुसार हालिया वर्षों में सऊदी अरब के आले सऊद शासक परिवार ने सऊदी राष्ट्रीय दिवस को बड़े पैमाने पर मनाने में विशेष रूचि दिखाई है ताकि सऊदी जनता विशेषकर युवकों और बच्चों में देशभक्ति और राष्ट्रीयता की भावना को जागृत किया जा सके। आईसिल जैसे आतंकियों द्वारा मचाए जा रहे उनमाद के बाद यह अतिआवश्यक हो गया है।

girl wearing saudi flagदमाम में राष्ट्रीय दिवस के अवसर पर जनता के लिए कई नए उद्यान और चैाक खोलने की तैयारी है। देश के इस पूर्वी प्रांत में बेहतरीन सुविधाओं से लैस 29 नए उद्यानों और चैाकों का उदघाटन किया जाना है। इस बारे में बात करते हुए पूर्वी प्रांतीय काउंसिल के महासचिव फहद बिन मौहम्मद अलजबीर ने हाल में एक कार्यक्रम में बताया कि हरे भरे क्षेत्र, उद्यान और चैक दमाम में शाह फहद उपनगरीय इलाके को एक नया सौंदर्य प्रदान करेंगे।

दूसरी ओर रियाद के गवर्नर शाहजादा तुर्की बिन अब्दुल्लाह बिन अब्दुल अजीज 84वें राष्ट्रीय दिवस को भव्य रूप से मनाने हेतु विभिन्न सरकारी एजेंसियों के साथ बैठक कर रहे हैं। ऐसी ही हाल की एक बैठक में रियाद के मेयर इब्राहीम अलदाजीन, रियाद पुलिस प्रमुख सुलेमान अलसुदेस और हवाई खेलों के अरब संघ के अध्यक्ष मुबारक अलसवैलम उपस्थित थे। प्रत्यक्ष है कि रियाद में कई आलीशान कार्यक्रर्मों का आयोजन होना है जिसमें हवाई खेल भी शामिल होंगे।

राष्ट्रीय दिवस से संबंधित एक कार्यक्रम में इमामों और धर्मगुरूओं को संबोधित करते हुए रियाद के गवर्नर शाहजादा तुर्की बिन अब्दुल्लाह बिन अब्दुल अजीज ने क्हा कि इमामों और प्रचारकों की राष्ट्रीय वफादारी की भावना, सरकारी मूल्यों और देश की मस्जिदों में इस्लाम की एक उचित समझ को बढ़ावा देने में महत्वपूर्ण जिम्मेदारी है। उन्होंने क्हा कि हमको अल्लाह द्वारा इस्लाम के जन्मस्थान स्थित हरमैन शरीफ की सेवा के लिए गौरांवित किया गया है। उन्होंने क्हा कि पहले दिन से सऊदी अरब का ध्यान कुरान और सुन्नत पर आधारित इस्लाम के मूल संदेश को फैलाने पर केंद्रित रहा है।

गौरतलब है कि सऊदी अरब का राष्ट्रीय दिवस सऊदी राज्य के संस्थापक और पहले शासक शाह अब्दुल अजीज बिन अब्दुल रहमान आले सऊद के नेतृत्व में लड़ी गई लड़ाई के बाद सऊदी साम्राज्य की स्थापना की यादगार के रूप में मनाया जाता है। इस वर्ष 84वां राष्ट्रीय दिवस मनाने की तैयारी है।

इस दौरान न केवल सऊदी अरब में बल्कि विश्व भर में स्थित विभिन्न सऊदी दूतावासों में बधाईयों का तांता लगा है। सऊदी दूतावास सहित भारतीय सरकारी एजेंसियों और अन्य विदेशी दूतावासों के साथ आउटसोर्सिंग और प्रोद्योगिकी, प्रमाण पत्र सत्यापन, वीजा सेवाओं, अनुवाद सेवाओं, यात्रा प्रयटन और प्रवासी भर्ती संबंधित क्षेत्र में सेंवाएं प्रदान कर रही अग्रणी कंपनी सुपर्ब ग्रुप और एसईपीएल ग्रुप के प्रबंध निदेशक फीरोज अहमद ने सऊदी अरब के 84वीं राष्ट्रीय दिवस के अवसर पर हरमैन शरीफ के संरक्षक शाह अब्दुल्लाह बिन अब्दुल अजीज को बधाई दी है। उन्होंने क्हा कि सऊदी अरब के लिए यह खुशी का पर्व है कि उसके गठन के 84 वर्ष पूरे हो गए हैं। साथ ही उन्होंने क्राउन प्रिंस और उपप्रधानमंत्री सलमान बिन अब्दुल अजीज बिन आले सऊद और सऊदी अरब के भारत में राजदूत डाक्टर सऊद मौहम्मद अलसती को भी बधाई दी है।saudi_national_day_2013_2035005_hp

इस उपलक्ष्य पर बोलते हुए फीरोज अहमद ने आर एन आई को बताया कि सुपर्ब ग्रुप पिछले कई वर्षों से सऊदी अरब के दूतावास से जुड़ा रहा है। उन्होंने क्हा कि सऊदी अरब ऐसे समय में जश्न मनाने जा रहा है जब प्रतिष्ठित हाथों में देश की बागडोर है और जनता समृद्धि का आनंद ले रही है। उन्होंने क्हा कि हरमैन शरीफ के संरक्षक शाह अब्दुल्लाह बिन अब्दुल अजीज के समझदार नेतृत्व के कारण ऐसा संभव हुआ है।

सुपर्ब ग्रुप के निदेशक अफरोज अहमद ने भी सऊदी अरब को 84वीं राष्ट्रीय दिवस पर बधाई दी है। अफरोज अहमद के अनुसार 84 वर्षों के समझदार नेतृत्व और दूरदर्शी नीतियों के कारण ही आज सऊदी अरब क्षेत्रीय और अन्र्तराष्ट्रीय स्तर पर प्रमुख स्थान बनाए हुए है। दिल्ली में सऊदी राजदूत की कार्यप्रणाली की प्रशंसा करते हुए अफरोज अहमद ने क्हा कि देखने में आया है कि मौजूदा राजदूत की निगरानी में सऊदी दूतावास एक एक बजे रात तक काम करता है। उन्होंने क्हा कि अपनी जिम्मेवारी निभाने का ऐसा एहसास उन्होंने पहले कभी नहीं देखा।

इसी विषय पर बात करते हुए लोक जनशक्ति पार्टी के महासचिव अब्दुल खालिक ने आर एन आई से क्हा कि वर्तमान समय में सऊदी अरब ने तमाम दुनिया को दिखा दिया है कि सऊदी अरब मुस्लिम दुनिया और मुसलमानों के जाएज मामलों की अध्यक्षता और समस्याओं का समाधान ढूंढने के लिए तैयार है। उन्होंने हज के अवसर पर विश्व भर से मुसलमानों के आगमन और बेहतरीन व्यवस्था को लेकर विशेष रूप से सऊदी सरकार की सराहना की।

दूसरी ओर एक बड़ा समुदाय ऐसा भी है जो सऊदी अरब के रोल से नाराज है। दिल्ली अल्पसंख्यक आयोग के पूर्व अध्यक्ष कमाल फारूकी का मानना है कि समूचे विश्व के मुसलमान सऊदी अरब को लीडर के रूप में देखना चाहता है परन्तु खेद का विषय है कि मुसलमानों की लीडरशिप का जो रोल सऊदी अरब को निभाना चाहिए था वह उसमें विफल हो गया है।

आर एन आई न्यूज ब्यूरो

image_pdfimage_print
Tags: , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , ,

About admin